WELCOME

WELCOME TO THE WORLD OF DREAMS & CREATIVITY

Monday, February 2, 2009

पढाई पढाई!!!!!



पढाई...... पढाई.......
कितना दिन,
मेहनत का पढाई,
देता है सफलता ।।

पप्पा मम्मा चिलाथे है,
पडो पडो, जब बच्चे नही पड़ते है।
बताते है, की बिना पढाई ,
हमारा ज़िन्दगी अच्छा नही हो पायेगा ।।

पप्पा मम्मा उनके मेहनत का
पैसा बरते है, बच्चो के जीवन केलिए,
बच्चे, उनके मेहनत से मिला हुआ
अंक को कुश से दिकाते है, पप्पा मम्मा को ।।

पप्पा मम्मा ज़िन्दगी भर कुश रेह जाते है,
जब बच्चे मेहनत से,
पढाई करके, कुढ़ का कमाई करके,
ज़िन्दगी में आगे बड़ते है ।।

यही है पढाई का कहानी, और पप्पा मम्मा का मेहनत, बच्चो को आगे बढाने में!!

6 comments:

उन्मुक्त said...

लगता है कि मैं अपनी शर्त जीत चुका हूं। एक और चिट्ठा हिन्दी में शुरु कर दीजिये या इसी को हिन्दी का चिट्ठा कर दीजिये और उसे हिन्दी फीड एग्रेगेटर के साथ पंजीकृत करवा लीजिये। इनकी सूची यहां है।

फाइनमेन पिछली शताब्दी के दूसरे भाग के सबसे प्रसिद्ध वैज्ञानिक थे। उनकी बेटी ने उनके पत्रों को संकलिय कर एक बेहतरीन पुस्तक Don't you have time to think'नाम से निकाली है। मैंने इस पुस्तक की समीक्षा कुछ दिन पहले लिखी थी उसमें एक चिट्ठी है खेलो कूदो और सीखो है। यह तो कुछ उल्टा ही कहती है Do read this post also. It is meant for the students like you :-)

Now, don't ask me to translate the comment in English.

rp.sahana said...

Areyyyy..Atleast use simple Hindi, wherein even a lay man can understand without translation...aap bahut hi, literature hi-tech language mein likthe hai..I cant understand such hi-language!!plz mujhe daya karke, simple hindi mein likhna..

Cuckoo said...

Hi,
Came here via Unmuktji's blog. Read some of your creations. You write well and you are like me in some ways. I also write some poetry both in Hindi & English.

One suggestion. Try to work on your Hindi words. There are quite a few spelling mistakes. I think they are taken from Google Indic Transliterate directly. Take this suggestion in positive sense to improve.

P.S.- Can you pls enable the Name/URL option for commenting ? This blogger id will take you to my old blog. Below is my current url.
Cuckoo

PD said...

उन्मुक्त जी के चिट्ठे से आप तक पहुंचा हूँ.. आपकी कवितायेँ भी अच्छी लगी..
आप हिंदी में अब कोई चिटठा शुरू कर ही दीजिये.. :)

rp.sahana said...

@cuckoo, Hi...Thanks for ur suggestion..Well, I surely enable URL and Name option.....After I compose, I check out vth the errors..After ur comment, I saw for the spelling mistakes, I didn't find any..Well, I ve taken this in positive manner.....But still, whenever I get free tym I surely c to that!! Anyway, Thanks a Lot for ur Suggestion..

rp.sahana said...

@PD:- Surely I start Hindi Blog within a Short while....Thanks a Lot for ur Encouragement!!